शांता न्यूज

Cg – नहीं थम रहे छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले, चार दिन में कमांडर समेत 4 लोगों को मारा; सड़क पर फेंका शव

छत्तीसगढ़ में लगातार नक्सली हमले हो रहे हैं। हमले नक्सली जवानों के साथ आम लोगों को भी निशाना बना रहे हैं। बीते दिनों सोमवार को बारसूर थाना क्षेत्र के मालेवही कैंप से चार किलोमीटर दूर एक ग्रामीण के शव मिलने से हड़कंप मच गया। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस टीम मौके के लिए रवाना हुई। पुलिस शव की शिनाख्त में जुटी है। शव की शिनाख्त के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस का मुखबिर बताकर ग्रामीण को मारा

बता दें कि इससे पहले नक्सलियों ने वार्ता के लिए हामी भरी थी। इस दौरान नक्सलियों ने कहा था कि कैंप न खोले जाएं और उनके गिरफ्तार साथियों को छोड़ दिया जाए। वहीं, दूसरी नक्सली आए दिन हमला कर रहे हैं। 14 फरवरी को नक्सलियों ने सुकमा जिले के योलमपल्ली थाना पालामडामू के इंजरम भेज्जी मार्ग में पोडियम जोगी की हत्या कर शव को सड़क पर फेंक दिया। पोडियम जोगी बिजली मिस्त्री का काम करता था। नक्सलियों ने पुलिस मुखबिर और सीआईडी के तहत काम करने का आरोप लगाया था।

नल जल योजना में काम करने वाला का रेता गला

नारायणपुर जिले के ओरछा थाना क्षेत्र के मंडली गांव में नल जल योजना में काम करने वाले प्लंबर इकबाल मियां अपने सहकर्मी के साथ 15 फरवरी को साप्ताहिक बाजार के सामने बने घर के बाहर खड़ा थे। तभी दो युवक पीछे से आकर इकबाल से बात करते हुए शराब कहां मिलेगी पूछा। इसी दौरान डंडे से सिर पर हमला करते हुए गला रेतकर फरार हो गए। पुलिस टीम अभी इसे नक्सली घटना नहीं मान रही है, क्योंकि किसी भी तरह से कोई भी नक्सली पर्चा नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

कमांडर की कुल्हाड़ी मारकर हत्या

18 फरवरी को बीजापुर के कुटरू थाना क्षेत्र के साप्ताहिक बाजार में सीएएफ कंपनी कमांडर तिजाउ राम भुआर्य की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। इस घटना के बाद से इलाके में दहशत फैल गई। नक्सली वारदात बढ़ती ही जा रही हैं। वहीं, सरकार की तरफ से अभी कोई भी कड़ा कदम नहीं उठाया गया है।

error: Content is protected !!