Home » गुजरात में चक्रवात तौकते का कहर, 3 की मौत; हजारों घर तबाह
देश-विदेश

गुजरात में चक्रवात तौकते का कहर, 3 की मौत; हजारों घर तबाह

शेयर करें-

गांधीनगर गुजरात (Gujarat) में भीषण चक्रवात  (Cyclone Tauktae) से हुई तबाही में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई है. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि तलाश एवं बचाव अभियान युद्ध स्तर पर जारी है. भीषण चक्रवात मंगलवार शाम तक राज्य में उत्तर की ओर जारी रहने की उम्मीद है.

उत्तर की ओर बढ़ रहा तौकते

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Vijay Rupani) ने कहा, ‘हमने गुजरात में तौकते से हुई तबाही के कारण कल रात से तीन मौतों की पुष्टि हुई है. हाल ही में बनी दीवार गिरने से एक 3 साल के बच्चे की मौत हो गई. गरियाधर तहसील में एक 80 वर्षीय महिला की मौत हो गई और एक और मौत वापी में रिपोर्ट की गई है.’ मुख्यमंत्री ने कहा, बीती रात जब चक्रवात ने दस्तक दी, तब से यह राज्य में उत्तर की ओर अपनी यात्रा जारी रखे हुए है लेकिन चक्रवात कुछ कमजोर हुआ है. प्रशासन की विस्तृत योजना के कारण, कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है. हमने 2 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है.

कोविड अस्पतालों के लिए विशेष सतर्कता

मुख्यमंत्री ने कहा, हमारी सबसे बड़ी चिंता यह थी कि अस्पतालों में Covid का इलाज प्रभावित हो सकता है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. केवल 16 अस्पतालों में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई, जिसमें से 12 में बिजली कंपनियों ने बिजली बहाल कर दी. बाकी 4 अस्पतालों में, जनरेटर के माध्यम से आपूर्ति की जा रही है. शीघ्र ही वहां भी बिजली बहाल कर दी जाएगी. सीएम ने कहा, हमारी दूसरी चिंता यह थी कि महाराष्ट्र (Maharashtra), मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh), राजस्थान (Rajasthan), दिल्ली (Delhi) और हरियाणा (Haryana) जैसे अन्य राज्यों को आपूर्ति की जाने वाली अधिकांश ऑक्सीजन प्रभावित हो सकती है.

कई इलाकों में बिजली गुल

मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि 2,437 गांवों में बिजली काट दी गई है, जिसमें से 484 गांवों में बिजली बहाल कर दी गई है. बिजली कंपनियों की सभी टीमें काम कर रही हैं और हर जगह बिजली बहाल करने की कोशिश कर रही हैं. 220 किलो वाट के दो स्टेशन प्रभावित हुए हैं और उन्हें बहाल करने के प्रयास जारी हैं. सीएम के मुताबिक, चक्रवाती हवाओं के कारण सौराष्ट्र के प्रभावित जिलों में 1,081 बिजली के खंभे उखड़ गए हैं. कुल 159 सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं और यह अनुमान लगाया गया है कि लगभग 40,000 पेड़ उखड़ गए हैं या गिर गए हैं.

16.5 हजार घर क्षतिग्रस्त

सीएम ने कहा, शुरुआती आकलन के अनुसार अब तक झोपड़ियों सहित लगभग 16.5 हजार घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं, लेकिन सर्वेक्षण अभी भी जारी हैं, क्योंकि चक्रवात अभी तक राज्य से बाहर नहीं निकला है. सौराष्ट्र के कई हिस्सों में तेज हवाओं और भारी बारिश के साथ भीषण चक्रवात तौकते ने गुजरात को प्रभावित किया. सबसे ज्यादा बारिश 9 इंच की बगासरा तहसील में हुई. जूनागढ़ के गिर-गढ़ाडा क्षेत्र और ऊना क्षेत्र में 8 इंच बारिश हुई, जबकि सावरकुंडला तहसील में 7 इंच बारिश हुई. अमरेली जिले की अमरेली, राजुला, बाबरा तहसील में लगभग 5 इंच बारिश हुई. 35 तहसीलों में 1-3 इंच बारिश हुई.


शेयर करें-

Add Comment

Click here to post a comment